Sunday, January 24, 2021

Best sad shayari in hindi | Emotional Sad Love Shayari

very sad shayari
sad shayari lyrics in hindi

नमस्कार दोस्तों- आज का यह आर्टिकल sad shayari sad shayari sms, breakup shayari, heart touching shayari, emotional shayari, sad love shayari, alone shayari, very sad shayari, broken heart shayari, sad shayari for girls, sad shayari in, hindi for girlfriend, sad shayari status,sad shayari images,sad shayari photo इन हिंदी से संबंधित है 

तो चलिए पेश है वेरी सैड शायरी इन हिंदी
hindi shayari love sad
sad shayari image


मोहब्बत में बुरी नियत से कुछ सोचा नहीं जाता 
कहा जाता है उसको बेवफा समझा नहीं जाता,
झुकाता है यह सर जिसकी इबादत के लिए 
उस तक तेरा जज्बा तो जाता है तेरा सजदा नहीं जाता।
                    - वसीम बरेलवी


साँस थम जाती है पर जान नहीं जाती
दर्द होता है पर आवाज़ नहीं आती,
अजीब लोग हैं इस ज़माने में ऐ दोस्त
कोई भूल नहीं पाता और किसी को याद नहीं आती।


तो क्या सच-मुच जुदाई मुझ से कर ली, 
तो ख़ुद अपने को आधा कर लिया क्या। 
               - जौन एलिया


उस को रुख़्सत तो किया था मुझे मालूम न था, 
सारा घर ले गया घर छोड़ के जाने वाला। 
                 - निदा फ़ाज़ली


वो दिल का बुरा, न बेवफा था,
बस, मुझ से यूंही बिछड़ गया था,
एक बार बिछड़ के जब मिला था
वोह मुझ से लिपट के रो पड़ा था।


जब मैं डूबा तो समन्दर को भी हैरत हुई,
अजीब शख्स है किसी को पुकारता भी नहीं।


ऐतबार-ए-मोहब्बत में इस कदर टूटे है, कि...
सुकून-ए-दिल की तलाश में ना जाने कहां-कहां भटके है। 


हम ग़म-ज़दा हैं लाएँ कहाँ से ख़ुशी के गीत, 
देंगे वही जो पाएँगे इस ज़िंदगी से हम।  
       - साहिर लुधियानवी


हम तो कुछ देर हंस भी लेते हैं,
दिल हमेशा उदास रहता है।
    - बशीर बद्र


बेखबर, बेवजह बेरुखी ना किया कर,
कोई टूट जाता है तेरा लहजा बदलने से।

sad shayari photo
sad shayari 2021
मुझ से बिछड़ के तू भी तो रोएगा उम्र भर, 
ये सोच ले कि मैं भी तेरी ख़्वाहिशों में हूँ।


जिंदगी हमारी यूं सितम हो गई
खुशी ना जानें कहां दफन हो गई,
लिखी खुदा ने मुहब्बत सबकी तकदीर में
हमारी बारी आई तो स्याही खत्म हो गई। 


ज़िंदगी छोटी है सामान बहुत,
और दिल के भी हैं अरमान बहुत।


दिल संभाले नहीं संभलता है,
जैसे उठ कर अभी गया है कोई।


चेहरों को बेनक़ाब करने में,
ए बुरे वक़्त तेरा हज़ार बार शुक्रिया।


तेरे बाद मैंने मोहब्बत को,
जब भी लिखा गुनाह लिखा। 


शेरो-शायरी तो दिल बहलाने का ज़रिया है जनाब,
लफ़्ज़ कागज पर उतारने से महबूब नहीं लौटा करते।


मुझसे किये गए वादे जब....
वो किसी और से करता होगा,
हाय वो मुझे याद तो करता होगा।


उसकी बेवफाई पे भी फिदा होती है जान अपनी, 
अगर उस में वफा होती तो क्या होता खुदा जाने।


नजदीकियां दूर होती गई ख्वाहिशें मजबूर होती गई,
दुआओं के असर लापता हो गए बद्दुआएं सब मंजूर होती गई।

sad shayari image
heart touching shayari


अब डर नहीं लगता कुछ खोने को,
मैने ज़िन्दगी में, ज़िन्दगी को खोया है। 



इस से पहले कि बेवफ़ा हो जाएँ
क्यूँ न ए दोस्त हम जुदा हो जाएँ,
तू भी हीरे से बन गया पत्थर
हम भी कल जाने क्या से क्या हो जाएँ।
               - फ़राज़


दर्द है दिल में पर इसका एहसास नहीं होता
रोता है दिल जब वो पास नहीं होता,
बर्बाद हो गए हम उसके प्यार में
और वो कहते हैं इस तरह प्यार नहीं होता।


परवाह करने की आदत ने तो परेशां कर दिया,
गर बे-परवाह होते तो सुकून-ए-ज़िंदगी में होते।


पत्थर समझ कर पाँव से ठोकर लगा दी
अफसोस तेरी आँख ने परखा नहीं मुझे,
क्या-क्या उमीदें बांध कर आया था सामने
उसने तो आँख भर के भी देखा नहीं मुझे।


मैं ठीक हूँ, तुम मेरे दर्द की फिक्र मत करना
मेरे जख्म भी भर जायेंगे,
तुम दुनिया में इसका जिक्र मत करना।


बिछड़ते वक्त उसने कहा था
ना सवाल करना, ना जवाब मिलेगा,
तुम भूल जाना सुकून मिलेगा
ना सवाल किया, और ना जवाब मिला,
ना भूल सका, ना सुकून मिला।


खेलने दो उन्हें जब तक जी ना भर जाये
मोहब्बत चार दिन की थी, 
तो शौक कितने दिन का होगा।


बिछड़ कर आप से हमको ख़ुशी अच्छी नहीं लगती
लबों पर ये बनावट की हँसी अच्छी नहीं लगती,
कभी तो खूब लगती थी मगर ये सोचते हैं हम
कि मुझको क्यों मेरी ये ज़िन्दगी अच्छी नहीं लगती।


एक नजर भी देखना गंवारा नहीं उसे
जरा सा भी एहसास हमारा नहीं उसे,
वो साहिल से देखते रहे डूबना हमारा
हम भी खुद्दार थे पुकारा नहीं उसे।


बेवफाई जो तुमने की तो कोई बात नहीं
इसमें नज़रें चुराने की तो कोई बात नहीं, 
दिल ही टूटा है अभी मैं तो नहीं टूटा हूँ
इतना मातम मनाने की तो कोई बात नहीं। 


कितना बेबस हो जाता है इंसान
जब किसी को खो भी नहीं सकते,
और उसके हो भी नहीं सकते।

very sad 2 line shayari
alone shayari

खामोशी से भर जाओगे, थोड़ा चीख लेना वरना मर जाओगे


भीड़ में भी तन्हा रहना मुझको सिखा दिया
तेरी मोहब्बत ने दुनिया को झूठा कहना सिखा दिया,
किसी दर्द या ख़ुशी का एहसास नहीं है अब तो
सब कुछ ज़िन्दगी ने चुप-चाप सहना सिखा दिया।


झूठी हँसी से जख्म और बढ़ता गया,
इससे बेहतर था खुलकर रो लिए होते।


सिसकती हुई ज़िन्दगी का मजा हमसे पूछिये
मोहब्बत में जो मिली वो सजा हमसे पूछिए,
क्यों फिरते हो उदास तुम इस गम की तलाश में
गम की हर गली का पता हमसे पूछिए।


तरस आता है मुझे अपनी मासूम सी पलकों पर,
जब भीग कर कहती हैं कि अब रोया नहीं जाता।


मुद्दतें हो गईं बिछड़े हुए तुम से लेकिन,
आज तक दिल से मेरे, याद तुम्हारी न गई।


दु:ख देकर भी सवाल करते हो
तुम भी ग़ालिब क्या कमाल करते हो
       - ग़ालिब


सिखा दी बेरुखी भी तुम्हें ज़ालिम ज़माने ने,
कि तुम जो सीख लेते हो हम पर आजमाते हो।


ख्यालों में मेरे कभी आप भी खोये होंगे
खुली आँखों से कभी आप भी सोये होंगे,
माना हँसी अदा है गम भुलाने की लेकिन
हँसते-हँसते कभी आप भी रोये होंगे।


क़ब्रों में नहीं हम को किताबों में उतारो,
हम लोग मोहब्बत की कहानी में मरे हैं।


मुझको तो दर्द-ए-दिल का मज़ा याद आ गया
तुम क्यों हुए उदास तुम्हें क्या याद आ गया,
कहने को जिंदगी थी बहुत मुख्तसर मगर
कुछ यूँ बसर हुई कि खुदा याद आ गया।


उनकी मोहब्बत का अभी निशान बाकी है
नाम लब पर हैं मगर जान अभी बाकी है,
क्या हुआ अगर देखकर मुंह फेर लेते हैं वो
तसल्ली है, कि अभी तक शक्ल कि पहचान बाकी है।

sad shayari with images
sad shayari in hindi for girlfriend

मैं क्यों कुछ सोच कर दिल छोटा करू
वो उतनी ही कर सकी वफा,
जितनी उसकी औकात थी।


बिन बात के ही रूठने की आदत है
किसी अपने का साथ पाने की चाहत है,
आप खुश रहें, मेरा क्या है मैं तो आईना हूँ
मुझे तो टूटने की आदत है।


मोहब्बत में न अपना कोई ठिकाना रहा
सारी उम्र बस उनका आना-जाना रहा,
हमने राज खुलने न दिए दिल के उनपर
खतों में हर्फ़ का लिखना मिटाना रहा।


वो मिले हमको कहानी बनकर
दिल मे रहे प्यार की निशानी बनकर,
हम जिन्हें जगह देते है आँखो के अंदर
वो अक्सर निकल जाते है पानी बनकर।


मिल भी जाते हैं तो कतरा के निकल जाते हैं,
मौसम की तरह लोग बदल जाते हैं,
हम अभी तक हैं गिरफ्तार-ए-मोहब्बत यारों,
ठोकरें खा के सुना था कि संभल जाते हैं।


इश्क की हमारे बस इतनी सी कहानी है
तुम बिछड गए हम बिख़र गए,
तुम मिले नहीं और """
हम किसी और के हुए नही।


ना पूछो मेरे सब्र की इंतहा कहां तक है,
तुम कर लो सितम तुम्हारी हसरत जहां तक है।


उस शख़्स के ग़म का कोई अन्दाज़ा लगाए,
 जिसको रोते हुए देखा न किसी ने। 


इतनी सारी यादों के होते भी जब दिल में,
वीरानी होती है तो हैरानी होती है।


रोज एक नई तकलीफ रोज एक नया गम,
ना जाने कब ऐलान होगा कि मर गए हम।


hindi shayari love sad
heart touching shayari in hindi

अंधेरे से कह दो बचपन बीत चुका है, अब तुझ से डर नहीं सुकून मिलता है


किसी अकेली शाम की चुप में,
गीत पुराने गा के देखो।



इसे इत्तेफाक समझो या दर्द भरी हकीकत,
आँख जब भी नम हुई वजह कोई अपना ही था।


ऐ मोहब्बत तेरे अंजाम पे रोना आया
जाने क्यूँ आज तेरे नाम पे रोना आया
         - शकील बदायुनी


नफरत लाख मिली मुझे चाहत नहीं मिली
ज़िन्दगी बीत चली पर ग़म से राहत नहीं मिली,
उसकी महफ़िल में हर शख्स को हँसते देखा
एक हम थे कि हँसने की भी इजाज़त नहीं मिली।


अब अगर खुशी मिल भी गई तो कहाँ रखेंगे हम,
आँखों में हसरतें हैं और दिल में किसी का ग़म।


देखा पलट के उसने चाहत उसे भी थी
दुनिया से मेरी तरह शिकायत उसे भी थी,
वो रोया बहुत मुझको परेशान देख कर
उस दिन पता चला की मेरी जरुरत उसे भी थी।


जवानी क्या हुई इक रात की कहानी हुई
बदन पुराना हुआ रूह भी पुरानी हुई


चमन में जो भी थे नाफ़िज़ उसूल उसके थे
तमाम काँटे हमारे थे और फूल उसके थे,
मैं इल्तेज़ा भी करता तो किस तरह करता
शहर में फैसले सबको कबूल उसके थे।

sad love shayari
alone shayari in hindi

अपना कोई मिल जाता तो हम फूट के रो लेते,
यहाँ सब गैर हैं तो हँस के गुजर जायेगी।


फिर नहीं बसते वो दिल में जो एक बार टूट जाएं,
कब्रे कितना भी संवारों कोई जिन्दा नहीं होता।


जुबान खामोश और आँखों में नमी होगी
यही बस मेरी दास्ताने-ज़िंदगी होगी,
भरने को तो हर ज़ख्म भर जायेगा लेकिन
कैसे भरेगी वो जगह जहाँ तेरी कमी होगी।


बस यही बात कि किसी को ना चाहों दिल से,
तज़ुर्बे इस के सिवा उम्र को क्या देते हैं।


जहर भी अपना हिसाब जरा अलग रखता है
मरने के लिए जरा सा,
और जीने के लिए बहुत सारा पीना पड़ता है।


दुनिया में मैं अपनी कमी छोड़ जाऊंगा
राहों पर इंतजार की लकीर छोड़ जाऊंगा,
याद रखना एक दिन मुझे ढूढ़ते फिरोगे
आँखों में आपके मैं नमी छोड़ जाऊंगा।


वो अँधेरा ही सही था कि कदम राह पर थे,
रोशनी ले आई मुझे मंजिल से बहुत दूर।


सब सो गए अपना दर्द अपनों को सुना के,
कोई होता मेरा तो मुझे भी नींद आ जाती।


लड़ के जाता तो हम मना लेते,
उसने तो मुस्कुरा के छोड़ा है।


लोग पूछते हैं क्यों सुर्ख हैं तुम्हारी आँखे
हंस के कह देता हूँ रात सो ना सका,
लाख चाहूं मगर ये कह ना सकूँ
रात रोने की हसरत थी रो ना सका।


कौन किसे दिल में जगह देता है
पेड़ भी अपने सूखे पत्ते गिरा देता है,
वाक़िफ़ हैं हम दुनिया के रिवाजों से
जी भर जाए तो हर कोई भुला देता हैं।

very sad shayari image
broken heart shayari in hindi

यह उम्मीद के परिंदे ताउम्र  फड़फड़ाते  हैं
 मगर छोड़कर जाने वाले फिर लौट कर नहीं आते हैं


चल मेरे हमनशीं अब कहीं और चल
इस चमन में अब अपना गुजारा नहीं,
बात होती गुलों तक तो सह लेते हम
अब काँटों पे भी हक हमारा नहीं।


बड़े ही अजीब हैं, ये जिंदगी के रास्ते
अनजाने मोड़ पर कुछ लोग अपने बन जाते है,
मिलने की खुशी दे या ना दे
मगर बिछड़ने का गम जरुर दे जाते हैं।


तेरे सिवा कोई मेरे जज़्बात में नहीं
आँखों में वो नमी है जो बरसात में नहीं,
पाने की कोशिश तुझे बहुत की मगर
तू एक लकीर है जो मेरे हाथ में नहीं।


भले ही किसी गैर की जागीर थी वो
पर मेरे ख्वाबों की भी तस्वीर थी वो,
मुझे मिलती तो कैसे मिलती?
किसी और के हिस्से की तकदीर थी वो।


जब मिलो किसी से
तो जरा दूर का रिश्ता रखना,
बहुत तङपाते है
अक्सर सीने से लगाने वाले।


अफसोस होता है जब
हमारी पसंद कोई और चुरा लेता है,
ख्वाब हम देखते हैं और
हकीक़त कोई और बना लेता है।


तेरी दुनिया में जीने से तो बेहतर है कि मर जायें,
वही आँसू, वही आहें, वही ग़म है जिधर जायें,
कोई तो ऐसा घर होता जहाँ से प्यार मिल जाता,
वही बेगाने चेहरे हैं जहाँ जायें जिधर जायें।
               - साहिर लुधियानवी


कभी मौका मिला तो
हम किस्मत से शिकायत जरुर करेंगे,
क्यों छोड़ जाते हैं, वो लोग
जिन्हें हम टूट कर चाहते हैं।


गुलशन की बहारों पे सर-ए-शाम लिखा है
फिर उस ने किताबों पे मेरा नाम लिखा है,
ये दर्द इसी तरह मेरी दुनिया में रहेगा
कुछ सोच के उस ने मेरा अंजाम लिखा है।


महफिल लगी थी बद-दुआओं की,
हमने भी दिल से कहा,
उसे इश्क़ हो, उसे इश्क़ हो, उसे इश्क़ हो।


sad shayari image
sad shayari images hindi

जो लोग सबकी फिक्र करते है अक्सर... 
उन्ही की फिक्र करने वाला कोई नहीं होता।


वो छोड़ के गए हमें
न जाने उनकी क्या मजबूरी थी,
खुदा ने कहा इसमें उनका कोई कसूर नहीं
ये कहानी तो मैंने लिखी ही अधूरी थी।


आखिरी बार तेरे प्यार को सजदा कर लूं
लौट के फिर तेरी महफ़िल में नहीं आऊंगा,
अपनी बर्बाद मोहब्बत का जनाज़ा ले कर
तेरी दुनिया से बहुत दूर चला जाऊंगा।


खामोशियां बोल देती है 
जिनकी बाते नहीं होती,
इश्क वो भी करते हैं 
जिनकी मुलाकाते नहीं होती।


कहता था तू ना मिला मुझे
तो मैं मर जाऊंगा,
वो आज भी जिंदा है यही बात
किसी और से कहने के लिए।


आइने में अक्सर जो अक्स नज़र आता है
खुद से लड़ता हुआ एक शख़्स नज़र आता है,
वो किसी बात पे खुद से खफा लगता है
नाकाम मोहब्बत का नक्श नजर आता है।


वास्ता नहीं रखना तो नजर क्यों रखते हो
किस हाल में हूँ जिंदा,
ये खबर क्यों रखते हो।


मेरी मुस्कराहट को हकीकत
ना समझ ऐ दोस्त,
दिल में झांक कर देख
कितने उदास हैं हम।


सुना है बहुत बारिश हुई है तुम्हारे शहर में, ज्यादा भीगना मत..
अगर धूल गई सारी गलतफहमियां, तो बहुत याद आयेंगे हम।


गुजरा हूँ हादसा-त से लेकिन वही हूँ मैं,
तुम ने तो एक बात पे रस्ते बदल लिए।


दिल गुमसुम जुबान खामोश क्यों है
ये आँखें यूं नम क्यों है,
जब कभी तुझे पाया ही ना था
तो आज तुझे खोने का गम क्यू है। 


sad shayari in hindi
heart broken shayari in hindi for boyfriend



उनकी सारी गलतियों को हम
उनकी नादानी समझ कर भूल गए,
कभी समझ में नहीं आया नादान वो थे या हम।


लोग मुन्तज़िर ही रहे कि हमें टूटा हुआ देखें,
और हम थे कि दर्द सहते-सहते पत्थर के हो गए।


हालात ने तोड़ दिया हमें कच्चे धागे की तरह,
वरना हमारे वादे भी कभी जंजीर हुआ करते थे।


उस ने पूछा था क्या हाल है,
और मैं सोचता रह गया।


ज़ख्म पुराने हुए कोई तो नया ज़ख्म दे जाओ,
चलो आओ फिर से फिर से वही इश्क़ ले आओ।


अब तुम को भूल जाने की कोशिश करेंगे हम,
तुम से भी हो सके तो... न आना ख़याल में।


ना वो सपना देखो जो टूट जाये
ना वो हाथ थामो जो छुट जाये,
मत आने दो किसी को करीब इतना
कि उससे दूर जाने से इंसान खुद से रूठ जाये।


बिखरी किताबें, भीगे पलक और ये तन्हाई,
कहूँ कैसे कि मिला मोहब्बत में कुछ भी नहीं।


कौन रोता है किसी और की ख़ातिर ऐ दोस्त,
सब को अपनी ही किसी बात पे रोना आया।


तमाम उम्र ताल्लुक़ का बोझ कौन सहे,
उसे कहो के चुका ले हिसाब कितने हैं।


हर ज़ख़्म किसी ठोकर की मेहरबानी है
मेरी ज़िंदगी की बस यही एक कहानी है,
मिटा देते तेरे दिए हर दर्द को सीने से
पर ये दर्द ही तो उसकी आखिरी निशानी है।

hindi shayari love sad
sad emotional shayari in hindi

मेरे बिना क्या अपने आप को सँवार लोगे तुम,
इश्क़ हूँ कोई ज़ेवर नहीं जो उतार दोगे तुम।


अपनी हालत का खुद एहसास नहीं है मुझ को,
मैं ने औरों से सुना है के परेशां हूँ मैं।


अकेला हो गया हूँ इस ज़माने में
इसलिए डरता हूँ सच बताने में,
ग़म छुपाने की जरुरत अब नहीं पड़ती
क्यूँ माहिर हो गया हूँ मुस्कुराने में।


छुप के तेरी तस्वीरें देखता हूँ
बे-शक तू ख़ूबसूरत आज भी है,
पर चेहरे पर वो मुस्कान नहीं
जो मैं लाया करता था।


नादानी की हद है जरा देखो तो उन्हें,
मुझे खो कर वो मेरे जैसा ढूढ़ रहे हैं।


न करवटे थी, न बेचैनियाँ थी,
क्या गजब की नीँद थी मोहब्बत से पहले।


तुम खुद ही उलझ जाओगे मुझे ग़म देने की चाहत में,
मुझमे हौंसला बहुत है... मुस्कुरा कर निकल जाऊँगा।


मुद्दत से जिन की आस थी वो मिले भी तो कुछ यूँ मिले,
हम नजर उठा कर तड़प उठे वो नजर झुका कर गुजर गए।


हवा से लिपटी हुयी सिसकियों से लगता है,
मेरी कहानी फिर किसी आशिक ने दोहराई है।


तजुर्बे ने एक ही बात सिखाई है,
नया दर्द ही पुराने दर्द की दवाई है।


अगर तुम समझ पाते मेरी चाहत की इन्तेहा,
तो हम तुमसे नहीं.. तुम हमसे मोहब्बत करते।


अंजाम-ए-वफ़ा ये है, जिसने भी मोहब्बत की,
मरने की दुआ माँगी, जीने की सज़ा पाई।


hindi shayari love sad
heart touching emotional shayari 

वो रो-रो कर कहती रही मुझे नफरत है तुमसे
मगर एक सवाल आज भी परेशान किये हुए है,
की अगर नफरत ही थी तो वो इतना रोई क्यों?


तुम क्या जानो अपने आप से कितना मैं शर्मिंदा हूँ,
छूट गया है साथ तुम्हारा और अभी तक ज़िंदा हूँ।


ग़म-ए-दुनिया में ग़म-ए-यार भी शामिल कर लो
नशा बढ़ता है शराबें जो शराबों में मिलें,
अब न वो मैं हूँ, न तू है, न वो माज़ी है फ़राज़
जैसे दो साए तमन्ना के सराबों में मिलें।
             - अहमद फ़राज़


कौन खरीदेगा अब हीरो के दाम में तुम्हारे आँसु,
वो जो दर्द का सौदागर था मोहब्बत छोड़ दी उसने।


जान गया वो हमें दर्द में भी मुस्कुराने की आदत है,
इसलिए वो रोज़ नया दुःख देता है, मेरी ख़ुशी के लिए।


उसे जाने की जल्दी थी तो मैं आँखों ही आँखों में,
जहाँ तक छोड़ सकता था वहाँ तक छोड़ आया हूँ।


यूँ न कहो कि क़िस्मत की बात है,
मेरी तन्हाई में कुछ तुम्हारा भी हाथ है।


अजीब तरह से गुजर गयी मेरी भी जिंदगी,
सोचा कुछ, किया कुछ, हुआ कुछ, मिला कुछ।


ख़ुशी के दौर तो मेहमाँ थे आते जाते रहे,
उदासी थी कि हमेशा हमारे घर में रही।


अकेले ही काटना है मुझे ऐ जिन्दगी का सफर,
यूँ पल दो पल साथ चलकर मेरी आदत खराब न करो।

sad shayari photo
सैड शायरी

नज़र-अंदाजी का बड़ा शौक था उनको,
हमने भी तोहफे में उनको उन्हीं का शौक दे दिया।


तोड़ा कुछ इस अदा से ताल्लुक उसने ग़ालिब,
के सारी उम्र अपना क़सूर ढूँढ़ते रह गए।


इस दिल की दास्तां भी बडी अजीब होती है
बडा मुस्किल से इसे खुशी नसीब होती है,
किसी के पास आने पर खुशी हो न हो
पर दुर जाने पर बडी तकलीफ होती है।


औकात नहीं थी ज़माने में जो मेरी कीमत लगा सके,
कम्बख़्त इश्क में क्या गिरे.. मुफ्त में नीलाम हो गये।


बिन सोये जो गुज़र गई,
वो राते तुम पर क़र्ज़ हैं।


मेरी उदासी मुझसे रोज़ मिलने आती हैं,
मुस्कुराकर हर बार उसे रूखसत कर देता हूँ।


उनकी नज़रो में हम अगर जो गिर जायेंगे
कुछ नही दोस्तो हम बिखर जायेंगे,
टूटी कस्ती से दरिया ना पार हुए
बीच दरिया मे डूबे तो मर जायेंगे।


हाँ याद आया इसके आखरी अलफ़ाज़ ये थे,
अगर जी सको तो जी लेना अगर मर जाओ तो अच्छा है।



दिल को मालूम है क्या बात बतानी है उसे,
उस से क्या बात छुपानी है ज़बाँ जानती है।
         - अरशद अब्दुल हमीद


वक़्त से पहले बहोत हादसों से लड़ा हूँ,
मै अपनी उम्र से कई साल बड़ा हूँ।


सारी दुनिया की खुशी अपनी जगह,
उन सबके बीच तेरी कमी अपनी जगह।


मिलना था इत्तिफ़ाक़ बिछड़ना नसीब था, 
वो उतनी दूर हो गया जितना क़रीब था।

sad shayari image boy
sad shayari image download

सिर्फ एक ही बात सीखी, इन हुस्न वालों से हमने​​,
हसीन जिसकी जितनी अदा है, वो उतना ही बेवफा है।


इश्क़ अधूरा रहा तो क्या हुआ,
हम तो पूरे बर्बाद हुए।


बड़े शौक से बनाया तुमने मेरे दिल मे अपना घर,
जब रहने की बारी आई तो तुमने ठिकाना बदल दिया।


मोहब्बत के भी कुछ अंदाज़ होते हैं,
जगती आँखों के भी कुछ ख्वाब होते हैं,
जरुरी नहीं के ग़म में आँसू ही निकले,
मुस्कुराती आँखों में भी शैलाब होते हैं।


सुनी थी हमने ग़ज़लों में जुदाई की बातें,
अब खुद पे बीती तो हक़ीक़त का अंदाज़ा हुआ।


मुँह की बात सुने हर कोई दिल के दर्द को जाने कौन,
आवाजों के बाज़ारों में ख़ामोशी पहचाने कौन,
सदियों सदियों वही तमाशा रस्ता रस्ता लम्बी खोज,
लेकिन जब हम मिल जाते हैं खो जाता है जाने कौन।


ये तुम से कह दिया किस ने के बाज़ी हार बैठे हम, 
अभी तुम पे लुटाने को हमारी जान बाक़ी है।


बेवजह छोड़ गए हो,
बस इतना बताओ सुकून मिला की नहीं।


किसी के पाँव की आहट का इन्त्जार किया,
इसी उदास खंडहर के उदास टीले पर।


सादगी इतनी भी नहीं है अब बाकी मुझमें,
कि तू वक़्त गुज़ारे और मैं मोहब्बत समझूं।


इश्क की नासमझी में हम, सब कुछ गवां बैठे,
जरुरत थी उन्हें खिलौने की, हम अपना दिल थमा बैठे।


मोहब्बत है या नशा था 
जो भी था कमाल का था,
रूह तक उतारते - उतारते 
जिस्म को खोखला कर गया।


बदन में जैसे लहू ताज़ियाना हो गया है, 
उसे गले से लगाए ज़माना हो गया है। 


जुदा हो रहे हो पर भूलो मत मैं तुम्हारा था कभी 
तेरी बाहों में हमने भी वक़्त गुजारा था कभी,
और आईने के सामने में बैठ के इतना रोया हूँ 
की आईना भी भूल गया ये शख्स मुस्कुराया था कभी।


तो दोस्तों- आज का sad shayari इन हिंदी की यह पोस्ट आपको कैसी लगी कृपया कमेंट करके जरूर बताएं साथ ही अगर आप चाहे तो इसे फेसबुक, व्हाट्सएप और अन्य सोशल साइट्स के जरिए अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कर सकते हैं 

पर विजिट करने के लिए आपका ~ धन्यवाद ~ जय हिंद ~ भारत माता की जय ~वंदे मातरम ~ 

9 comments:
Write comment