Tuesday, January 30, 2024

191+ Dosti Me Gaddari Shayari in Hindi | झूठे दोस्त शायरी - Fake Friends Shayari

Dosti Me Gaddari Shayari in Hindi: Hello friends :- A deceitful person can never be anyone's friend. He always cheats others and doesn't even spare himself. He makes every effort to keep his own conscience in the dark. Just as a pigeon, in times of distress, buries its neck in the ground and thinks that no one is watching it.

As soon as you clearly identify such a person, stay away from him without any delay and do not expect anything from him. Such a person is the most dangerous. Even if you take a lot of precautions, he can embarrass you and put you in serious trouble. In such a situation, your mental state may be under extreme oppression. I would like to say only one line for people who are deceitful by nature - after cheating someone else, definitely wait for your turn.

In today's post, we have brought some of the best Dhokebaaz Dost Shayari in Hindi, Gaddar Dost Shayari in Hindi, Jhoothe Doston Ke Liye Shayari in Hindi about such deceitful friends, which you will definitely like, so let's see the deceitful friend Shayari. - Yaari me Gaddari Shayari in Hindi

 Dosti Me Gaddari Shayari in Hindi

dosti me gaddari shayari
Dhokebaaz Dost Shayari in Hindi

 मत करना किसी दोस्त पर नाज 

अक्सर दोस्त ही निकलते है गद्दारबाज 


कभी किसी पर ज्यादा विश्वास मत करो “जानी”

यहां दोस्त भी धोखा दे दिया करते हैं


मत करो यहाँ हर किसी पे एतबार

ये मतलबी दुनिया है जनाब

यहाँ हर कोई निकलता है गद्दार 


सीने में धधकते फ़िर कुछ अंगार निकले हैं

गद्दार कुछ जिगरी यार निकले हैं


हर वक्त मेरी जुबां पर दोस्तों का ही नाम आया

पर मेरे बुरे वक्त में कोई दोस्त न काम आया


कौन कहता है कि सिर्फ 

मोहब्ब्त बेवफा होती है

हमने दोस्ती में भी धोखे खाए है


जिस दोस्ती पर हमें

बहुत था एतबार

कैसे बताएं किसी को

वो दोस्त भी निकला गद्दार


मुझको बड़ा अभिमान था मेरे उस जिगरी यार पर

धोखा दिया उसने विश्वास था जिस गद्दार पर


मोहब्बत हो जाती है दुश्मन से भी

जब कोई यार यारी में गद्दारी कर दे


मोहब्बत से ज्यादा दोस्ती पर गुमान था

मेरा दोस्त मेरे लिए मेरी जान था

आखिर धोखा दिया उस दोस्त ने भी

जिसके लिए मै जान देने को तैयार था

Dhokebaaz Dost Shayari in Hindi

Gaddar Dost Shayari in Hindi
Matlabi Dost Shayari In Hindi

अपनों के सिवा किसी और से आस मत रखना,

खुद के सिवा किसी दोस्त पर विश्वास मत करना


दिल के हाथों मजबूर होकर मौका देते हैं

तभी तो दिल में बसने वाले धोखा देते हैं


पीठ पीछे बोलने वाले सभी पराये नहीं होते

कुछ अपने गद्दार दोस्त भी होते है


दोस्ती का मेरी अच्छा सिला दिया उसने

मुसीबत में मेरी मुझे भुला दिया उसने


दोस्त बना कर वो खेल रचा रहा था

मेरी मोहब्बत को मुझसे छीन कर अपनी बना रहा था

दोस्ती नाम को भी वो कलंक लगा रहा था

मै उस बेवफा दोस्त के धोखे में आ रहा था

धोखेबाज दोस्त  शायरी

जो मेरा सबसे बड़ा यार था

वो ही सबसे बड़ा गद्दार निकला 


बड़ा गुरूर मुझको मेरे यार पर था

बाद में पता चला मेरा ऐतबार इक गद्दार पर था


सच्ची दोस्ती में दोस्त को आजमाना गलत होता है

दोस्ती के नाम पर गद्दारी निभाना कहां सही होता है


इस जहां में कोई नहीं बचा ऐतबार के काबिल

दोस्त धोखा दे जाते हैं अब तो झूठे प्यार के खातिर


दोस्त पर था विश्वास उसने तोड़ दिया था

अपनी मोहब्बत को हमने दोस्त के लिए छोड़ दिया था

उस दोस्त ने भी हमसे धोखा किया

जिसके लिए हमने अपनी मोहब्बत को बेवफा बोल दिया था


दुश्मनों से तो हमेशा बचो

पर ऐसे दोस्तों से भी बचो

जो दोस्ती की आड़ में

तुम्हारे साथ दुश्मनी निभाते है 

Yaari me Gaddari Shayari in Hindi 

New Gaddar Dost Shayari In Hindi
धोकेबाज/गद्दार दोस्तों की शायरी हिंदी में

दोस्ती तोड़ दी ना जाने दुःखी किस बात से था

पर आज भी लगता है वो वाकिफ़ मेरी हर जज्बात से था


जब दोस्त ही शामिल हो गद्दारों की चाल में

फिर क्यों पड़ना दोस्ती के जाल में


विश्वास टूट जाएगा दोस्ती 

पर ज्यादा ऐतबार न करना

मुश्किल हो जाएगा जीना 

दोस्तों से इतना प्यार न करना


दोस्तों के साथ हम खुश रहा करते थे

मोहब्बत से पहले दोस्तों को वक़्त दिया करते थे

उन दोस्तों के साथ हम हर रोज़ पिया करते थे

आखिर बेवफा निकले दोस्त जिनके लिए हम जिया करते थे


हम अपना सब कुछ लुटा देते थे अपने दोस्तों की खातिर

पर अब तक कोई ना मिला हमें अपनी दोस्ती के काबिल 

यारी में गद्दारी शायरी

मेरी दोस्ती का उसने अच्छा सिला दिया

मेरी मुफलिसी में उसने मुझको ही भुला दिया


बड़ा गुरूर मुझको मेरे यार पर था

बाद में पता चला मेरा ऐतबार इक गद्दार पर था


धो लेते हैं घाव को दिल के मैखाने के जाम से

नफरत हो गई है मुझे अब दोस्ती के नाम से


दोस्ती करने से पहले दोस्त को आज़माना चाहिए

यहाँ दोस्ती के नाम पर लोग बर्बाद कर दिया करते हैं


हर किसी ने दिखा दी हमें अपनी असली औकात

दोस्ती के नाम पर हर किसी ने किया विश्वासघात 


दोस्ती के अब मतलब बदल गये है,

जब से मतलब की दोस्ती होने लगी है

Also Read😍👇

Jhoothe Doston Ke Liye Shayari Hindi Me 

Yaari me Gaddari Shayari in Hindi
Jhoothe Doston Ke Liye Shayari Hindi Me

जब मतलबी दोस्त से  दोस्ती की जाए 

तो क्यों न इस मामले में  दुश्मनों की भी राय ली जाए


मेरे कुछ दोस्त बुरे वक्त में मेरी कमियां गिना रहे हैं

होकर मतलबी वो अब दोस्ती के मायने बता रहे हैं


वो कहती थी तुम्हारे दोस्त सही नहीं

हमने उसे छोड़ दिया था

आखिर फिर याद आई उसकी

जब दोस्तों ने हमें दगा दिया था


मतलबी दोस्त ऐसे होते है जनाब

जो अपने मतलब के लिए

किसी भी हद तक जा सकते है 


दोस्ती जिन्दगी बदल देती हैं

पर कुछ दोस्त ही बदल देते हैं


दोस्त से धोखा खाकर दोस्ती 

निभाना बड़ा मुश्किल हो जाता है

झूठे दोस्त शायरी

धोखेबाज दोस्तों की बस एक ही कहानी है

जरूरत पड़ने पर धोखा देना उनकी निशानी है


कुछ दोस्त आपके लिए आपकी जान होते हैं

लेकिन वो ऊपर से आपके और दिल से शैतान होते हैं


दुश्मनों के दिल को भी बड़ा करार आता है

जब अपना दोस्त ही सबसे बड़ा गद्दार निकलता है 


दुश्मनों के दिल को करार आएगा

जब दोस्तों के बीच में दरार आएगा


मतलबी दुनिया में  प्यार हो या यार 

अब तो दोस्त भी  निकलते है गद्दार

Bewafa Dost Shayari in Hindi

The first effort should be that if you come to know that your friend is a cheater, or will cheat you in the future, then your effort should be to distance yourself from such a friend as soon as possible.

Stop paying attention to what they say. If he tries to talk to you through someone, then talk to them only briefly, so that the other person also understands that you do not want to talk to them.

If you want that things should not be taken too far, then inform your friend as soon as possible that we do not want to be friends with you, try to end the friendship without any quarrel, the poetry given here is such a cheater. Matlabi Dost Shayari In Hindi, New Gaddar Dost Shayari In Hindi is said for friends.

Bewafa dost shayari in Hindi
दोस्त ने धोखा दिया शायरी

लोगों के सामने अच्छे और दिल में खराब हो गए हैं,

मतलबी दोस्त जिंदगी में बेहिसाब हो गए हैं


जो खुशियों में शामिल होते थे

आखिर उन्होंने गम की बरसात की

जब हम मुसीबत में थे तो

किसी दोस्त ने भी ना हमसे बात की


दुनिया में धोखेबाज लोगो की कोई कमी नहीं

जो लोग सामने से जितना विश्वास दिखाते है

वो पीठ पीछे उतना ही विश्वासघात करते है 


हम वक्त गुजाने के लिए दोस्तों को नहीं रखते है

दोस्तों के साथ रहने के लिए वक्त रखते हैं


असली दोस्ती और मतलबी  

दोस्त की पहचान  बुरे वक्त और 

हालात में हो जाती है


दिल से मतलबी दोस्त जब उतर जाते हैं

टूट कर कई सपने तब बिखर जाते है


आखिर बुलाने पर भी नहीं आए वो दोस्त

जो कहते थे बुरे वक्त में याद करना जान लूटा देंगे

दोस्त ने धोखा दिया शायरी

जब दोस्त शामिल हो जाए 

दुश्मन की चाल में

तो शेर भी फंस जाता है 

मकड़ी के जाल में 


ऐ खुदा, कोई तो मिले ऐतबार के काबिल,

अब तो दोस्त भी धोखा देते है प्यार के खातिर


दोस्ती के मायने बदल गए 

अब तो दोस्त भी गद्दार निकल गए


दोस्ती ने तेरी दिया सुकून इतना

बाद में तेरे बिन कोई अच्छा न लगा

धोखा भी दिया तूने इस अदा से

कि कोई भी तेरे बाद बेवफा न लगा

Also Read😍👇 

Dhokhebaaz Dost ke Liye Shayari

Dhokhebaaz Dost ke liye shayari
Selfish Fake Friends shayari In Hindi

अच्छे दोस्त भी अब आंखों में खटकने लगे हैं

मतलबी लोग जब से दोस्त बनने लगे हैं


उस बेवफा ने एक दोस्त बनाया था

हमसे ज्यादा उसको चाहा था

उस दोस्त की बातों में आकर छोड़ दिया हमें

जिसको हमने अपनी जान बनाया था


दोस्ती की भूख उस दिन मिट गई, 

जिस दिन से मैंने धोका खाया है


आज इस दुनिया में सच्ची दोस्ती कही नहीं रही

अब तो हर कोई अपने मतलब के लिए दोस्ती करता 


दुश्मन से हमेशा बचो

और दोस्त से उस वक्त जब वो

तुम्हारी तारीफ़ तुम से करने लगे


दोस्ती के बीच में दरार आएगा, 

जब दोस्त गद्दार निकल जाएगा।


लोग अब वक्त के साथ ही बदल जाते हैं,

दोस्त भी अब सच्चे मतलबी हो जाते हैं


कुछ लोगों की बातों में वो आया था

उसको हमारे सच्च पर यकीन नहीं आया था

दोस्ती तोड़ गया किसी के बहकावे में आकर

मेरे दोस्त ने मुझे धोखेबाज बताया था


टूट गए दोस्ती और प्यार के धागे

सबकी औकात छोटी रह गई व्यापार के आगे


मेरी दोस्ती का उसने बड़ा अच्छा सिला दिया

मेरे बुरे वक्त में उसने मुझको ही भुला दिया 


दिल टूट जाए दोस्ती पर इतना ऐतबार मत करो

जीना मुश्किल हो जाए किसी से इतना प्यार मत करो

Selfish Fake Friends Shayari In Hindi

dosti me gaddari shayari
 Dhokebaaz Dost Shayari in Hindi

दुश्मन के दगा करने पर  

दुख नहीं होता लेकिन 

दोस्त के दगा करने पर 

जिंदगी वीरान सी लगती है


कुछ दोस्तों की फितरत और मजबूरी होती है,

धोखेबाज दोस्तों से दूरी बहुत जरूरी होती है


सच्चा वफादार दोस्त भी किस्मत की बात है

आज के वक़्त में सबके दिल में पैसे की प्यास है

जो हमारे बुरे वक्त में भी ना छोड़े साथ

हमको एक ऐसे दोस्त की तलाश है


ज़िन्दगी के आगे कभी ऐसी सूरत नहीं पड़ी

मुझे दोस्तों के रहते कभी दुश्मनों की ज़रुरत नहीं पड़ी


दोस्ती में हम हर किसी को अपना बना लेते है

इसीलिए तो हमारे अपने ही हमे धोखा देते है 


दोस्तों पर ऐतबार करने का दौर बीत गया

हर कोई वक्त-बेवक्त बदलने का हुनर सीख गया


मेरी दोस्ती का उसने  

अच्छा सिला दिया 

मेरी मुफलिसी में उसने  

मुझको ही भुला दिया


मतलबी दोस्तों की होती है मीठी बात

संभाल कर रखने चाहिए अपने जज्बात


वो रोता हुआ हमारे पास आया था

हमने गले लगा कर उसे समझाया था

आखिर धोखा किया उसने हमारे साथ

जिसको हमने अपना दोस्त बनाया था


दुश्मनों ने जख्म करे कुछ दोस्तों ने जख्म करे 

दुश्मनों के जख्म भर गए दोस्तों के दिए जख्म रह गए सारे के सारे


बड़ा गुरूर था हमें अपने यार की यारी पर

बाद में अफ़सोस हुआ उसी यार की गद्दारी पर 

Also Read😍👇 

New Gaddar Dost Shayari In Hindi

Gaddar Dost Shayari in Hindi
Matlabi Dost Shayari In Hindi

अब तो लोग फटे हुए कपड़ो को नही सिलते हैं

दोस्त भी दिलों में नफरत लिए सादगी से मिलते हैं


झूठी थी दोस्ती तेरी और 

झूठा था तेरा साथ

खत्म हुई दोस्ती और  

दोस्ती के जज्बात


जब-जब जिंदगी में बुरा वक्त आता है

मतलबी दोस्तों के चेहरे से नकाब उठ जाता है


जो मेरे साथ बैठ कर खाना भी खाता है

जो मुझे अपना भाई बताता है

वो मेरा धोखेबाज दोस्त है

जो गैरों के सामने मुझे बुरा बताता है


दोस्ती पर से भरोसा मेरा उस दिन से उठ गया

जिस दिन से दोस्तों ने बेमतलब साथ बैठना छोड़ दिया


मतलबी दोस्त गिरगिट की तरह होते है

जो वक्त के साथ अपना रंग भी बदल लेते है 


जहाँ आस होती हैं वहाँ विश्वास होता हैं,

जहाँ विश्वास होता हैं वहीं तो विश्वासघात होता हैं


वो नही है हमारी दोस्ती के काबिल 

जो दोस्त गद्दारों की चाल में हो शामिल हो


इस दुनिया में यह दोस्ती इक दिखावा है

जरूरत के समय मिलेगा धोखा ,ये दावा है


दिल से दिल मिलाया था

हमने अपना हर राज अपने दोस्त को बताया था

धोखा मिला आखिर उसी के हाथ से

जिस दोस्त को हमने जीना सिखाया था


ऐ खुदा, कोई तो मिले ऐतबार के काबिल

अब तो दोस्त भी धोखा देते है प्यार के खातिर

Also Read😍👇   

Best Matlabi Dost Shayari in Hindi

New Gaddar Dost Shayari In Hindi
Yaari me Gaddari Shayari in Hindi

सामने दोस्ती और पीठ पीछे दुश्मनी निभा रहे है

ये गद्दार दोस्त है, जो अपनी गद्दारी निभा रहे है 


जब घाव मेरे दिल के भर जायेंगे

मेरे आँसू मोती बनकर बिखर जायेंगे

दुनिया वालों मत पूछना किसने धोखा दिया

वरना कुछ दोस्तों के चेहरे उतर जायेंगे

झूठे दोस्त शायरी - Fake Friends Shayari

एक सपना ही है कि इस दुनिया में  

कोई साथ निभाने वाला दोस्त मिल 

जाए क्योंकि हर तरफ  

धोखेबाज दोस्त ही मिलते हैं


खड़े हैं दुनिया के मतलबी दोस्त हाथों में पत्थर लेकर

बोलो मैं कहां जाऊं अपनी इस दोस्ती का मुकद्दर लेकर


इश्क़ मोहब्बत हमने कभी किया ही नहीं

किसी को हमने धोखा कभी दिया ही नहीं

कुछ दोस्त थे जो बीच रास्ते छोड़ गए

और कुछ ने तो साथ दिया ही नहीं


दोस्ती टूटना अब अंजाम हो चुकी है, 

दग़ाबाज़ी दोस्ती का दूसरा नाम हो चुकी है|

No comments:
Write comment