टेंशन दूर करने के 5 बेस्ट टिप्स

chinta dur karne ke upay
chinta mukt rehne ke upay

tension dur karne ka upay नमस्कार दोस्तों- आज के समय में बढ़ता तनाव (टेंशन) और अवसाद जिंदगी की सबसे कड़वी सच्चाई है। इसके चलते कई तरह की मानसिक बीमारियां जन्म ले रही हैं। बच्चे, बुजुर्ग, युवा, हर कोई इसकी गिरफ्त में है

 दोस्तों- हर कोई अपने जीवन को बेहतर तरीके से जीना चाहता है। लेकिन भागदौड़ भरी जीवनशैली, अस्त व्यस्त दिनचर्या, गलत संगत, नकारात्मक विचार, ये सब आदमी के जीवन में घातक प्रभाव डालते हैं।

और ज्यादा सोचने (ज्यादा टेंशन) के कारण दिमाग पर भी इसका बुरा असर पड़ता है, जिसके चलते लोग माइग्रेन अथवा डिप्रेशन के शिकार हो सकते हैं। ऐसे कई लोग हैं जिनके पास सारी सुख- सुविधाएं हैं फिर भी वह तनावग्रस्त रहते है और आज का यह आर्टिकल भी tension dur karne ka upay पर आधारित है

लेकिन अपनी जीवनशैली में कुछ आसान से तरीके अपनाकर टेंशन से दूर रहा जा सकता है। तो आइए जानते हैं chinta dur karne ke upay

दूर करने के 5 बेस्ट तरीके


    तनाव के मुख्य कारण (Main causes of stress) 


    वैसे तो तनाव के कई कारण हो सकते हैं लेकिन तनाव के कुछ मूल कारण है।

    1. गलत खानपान

    2. कोई गंभीर बीमारी

    3. आर्थिक तंगी

    4. नकारात्मक सोच

    5. अस्त व्यस्त जीवनशैली

    6. किसी कार्य में असफलता

    7. किसी प्रियजन की मृत्यु

    8. अमर्यादित व्यवहार

    तनाव दूर करने के 5 बेहतरीन तरीके(5 best ways to relieve stress)

    tension dur karne ka mantra
    tension dur karne ka upay in hindi

     ध्यान (Meditation)


    ध्यान को अपनी दिनचर्या में जरूर शामिल करें, इसके लिए आप कोई शांत जगह का चुनाव करें। वहां बैठकर ध्यान लगाकर हनुमान चालीसा ,या ओम उच्चारण आदि करें। इससे आपकी मानसिक स्थिति सकारात्मक (Positive) होगी।

    क्योंकि ईश्वर का ध्यान करने से हमारी अंतरात्मा को शांति मिलती है और हमारे अंदर सकरात्मक उर्जा (Positive energy) का संचार होता है, इसे रोजाना करने से आप तनावमुक्त तो रहेंगे साथ ही यह आपके स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है।

    समय का सही उपयोग (Proper use of time)


    अगर आप टेंशन से बचना चाहते हैं तो अपने रोजाना के कार्यों का एक शेडूल बनाएं जैसे- दिन के सभी जरूरी कार्यों को पहले पूरा करने का प्रयास करें, आपको कब क्या करना है इसे पहले से निर्धारित रखें।

     किसी भी जरूरी काम को ना टालें। बाद में वही कार्य आपके टेंशन का कारण बन सकते हैं और अपने समय का पूर्णता: सही जगह उपयोग करें।

    सही दिनचर्या का चुनाव (Choose the right routine)


    तनाव से बचने के लिए सही दिनचर्या का चुनाव करना बेहद जरूरी है। इसलिए आपको कब सोना है, कब जागना है, कब किससे मिलना है, इसका एक रूटीन बनाएं।

    सुबह उठने के बाद ध्यान, व्यायाम, और योग जरूर करें। इसके साथ पौष्टिकता से भरपूर नाश्ता भी जरूर लें। साथ ही अपने भोजन में हरी सब्जियां, दूध, दही, फल, फलों के जूस जैसी पोस्टिक चीजों को शामिल करें।

    मर्यादित व्यवहार (Decent behavior)


    अच्छा व्यवहार और आचरण आपको सामाजिक और मानसिक शक्ति देते हैं। आदमी का आचरण और व्यवहार ही उसके संस्कार को प्रदर्शित करता है।

    अमर्यादित आचरण के आदमी को हमेशा भय, अशांति, और संताप घेरे रहता है। क्योंकि किसी की भावनाओं को आहत करके, किसी का बुरा कर के, कोई भी सुख और शांति नहीं पाता

    इसलिए सबसे मर्यादित रूप से व्यवहार करें, लोगों की मदद करें। इससे समाज में आपकी छवि अच्छी रहेगी और समाज के लोग आपसे प्रेम- भाव का व्यवहार रखेंगे।

    इसे भी पढ़े ➤ पेट कम करने के आसान उपाय,

    सकारात्मक सोच (Positive thinking)


     सकारात्मक सोच इंसान को विपरीत परिस्थितियों में भी हिम्मत प्रदान करती है, और उसे धैर्यवान बनाती है। समय कभी भी एक समान नहीं रहता।

     इसलिए अगर आपके जीवन में कुछ बुरा हो रहा हो तो भी अपनी सोच सकारात्मक रखें साथ ही ईश्वर और स्वयं पर विश्वास रखें।

    क्योंकि सकारात्मक सोच के बल पर आप कठिन से कठिन समस्याओं का समाधान आसानी से कर सकते हैं।

    खुद के लिए समय निकालें (Take time for yourself)


    खुद को मानसिक रूप से मजबूत करने के लिए यह बेहद जरूरी है, कि रोजाना कुछ समय अपने लिए निकालें और इस समय का उपयोग आप अपने पसंदीदा कामों में करें

    जैसे- कोई किताब पढ़ना, संगीत सुनना, डांस करना, या जो भी आपको पसंद हो क्योंकि अपना पसंदीदा कार्य करने से मन खुश रहता है तनाव दूर होता है और आपकी सोच सकारात्मक होती है।

    इसे भी पढ़े ➤  सफलता के प्रभावशाली सूत्र,

    इसे भी पढ़े ➤ परीक्षा के समय पढ़ाई ही नहीं खान-पान का रखें भी ध्यान

    Post a Comment

    0 Comments