निदा फ़ाज़ली के मशहूर शेर जो आपके दिल में उतर जायेंगे

nida fazli poetry hindi fonts
nida fazli poetry images

नमस्कार दोस्तों - मैं अजय पाण्डेय technofriendajay.in पर आप सभी का स्वागत करता हूं और आज का यह आर्टिकल हिंदी और उर्दू के महान शायर Nida fazli ke mashoor sher पर आधारित है

 निदा फ़ाज़ली जी का जन्म 12 अक्टूबर 1938 को ग्वालियर में हुआ था, उनका असली नाम मुक्तदा हुसैन है निदा फ़ाज़ली इनका का लेखन का नाम है, निदा फ़ाज़ली जी ने कई हिंदी फिल्मों गीत लिखे हैं, फिल्म रजिया सुल्तान, में उन्होंने अपना पहला गीत, तेरा हिज्र मेरा नसीब है लिखा था 

1998 मैं इन्हें साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया सफर में धूप, आंखों भर आकाश, लफ्जों के फूल, आंख और ख्वाब के दरमियां, आदि इनकी की प्रमुख कृतियां हैं, 8 फरवरी 2016 को यह कलम का जादूगर हमेशा के लिए सो गया 

तो आइए पढ़ते हैं  nida fazli poetry  इन हिंदी....

kahi jami nahi milti
निदा फ़ाज़ली के शेर

kuch tabiyat hi mili aisi nida fazli
nida fazli sher

ishq kije fir samjhiye nida fazli
nida fazli sher in hindi


इसे भी पढ़ें ➤ राहत इन्दौरी के मशहूर शेर

nida fazli poetry images
निदा फ़ाज़ली शेर इन हिंदी

badla na apne aap ko
nida fazli ke sher in hindi

इसे भी पढ़ें ➤ गुलज़ार साहब के मशहूर शेर

nida fazli poetry photo
nida fazli kabhi kisi ko mukammal

nida fazli quotes
nida fazli quotes hindi

nida fazli best lines in hindi
nida fazli 2 line shayari

apni marzi se kahan shayari image
nida fazli two line shayari
 
अपनी मर्ज़ी से कहाँ अपने सफ़र के हम हैं,
रुख़ हवाओं का जिधर का है उधर के हम हैं।


दोस्तों- उम्मीद करता हूं आपको यह पोस्ट जरूर पसंद आई होगी अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे, अपने दोस्तों को भी शेयर करें 

https://www.technofriendajay.in/ पर विजिट करने के लिए आपका धन्यवाद~ जय हिंद~ वंदे मातरम~ भारत माता की जय~

Post a Comment

0 Comments