Thursday, April 14, 2022

तन्हाई सैड अलोन शायरी इन हिंदी | Alone Shayari, Status, Quotes In Hindi | tanhai shayari

 नमस्कार दोस्तों- अक्सर आप जिससे प्यार करते हैं और वह आपसे दूर हो जाता है, तो आप अकेलापन महसूस करने लगते हैं, यह कैसी भावना होती है जब आप खुद को एकांत व खालीपन का अनुभव करते हैं और आपको कुछ भी अच्छा नहीं लगता 

और आज के इस पोस्ट में हम आपके लिए अकेलेपन पर कही गई कुछ बेस्ट शायरी Alone shayari, Alone shayari in hindi, tanhai shayari, Zindagi alone shayari, alone sad shayari, alone sad shayari in hindi, painful alone sad shayari in hindi, alone dard sad shayari, facebook akelapan shayari, Alone sad shayari in hindi, Alone shayari 2 line, Sad alone shayari in hindi, Feeling alone shayari, Alone shayari image, Alone shayari for girls, Leave me alone shayari, Feeling Lonely Shayari in Hindi, फीलिंग अलोन शायरी इन हिंदी, Alone Shayari, Status, Quotes, In Hindi का कलेक्शन लेकर आया हूं जिनको आप जरूर पसंद करेंगे तो चलिए दोस्तों पेश है Alone Shayari, Status in hindi


Alone shayari
Alone shayari in hindi

Alone Shayari, Status, Quotes In Hindi | tanhai shayari in hindi

Alone shayari in hindi

बहुत सोचा बहुत समझा बहुत ही देर तक परखा,

कि तन्हा हो के जी लेना मोहब्बत से तो बेहतर है।

Alone shayari in English

bahut socha bahut samajha bahut hi der tak parakha, 

ki tanha ho ke jee lena mohabbat se to behatar hai.



मैं जो हूँ मुझे रहने दे हवा के जैसे बहने दे,

तन्हा सा मुसाफिर हूँ मुझे तन्हा ही तू रहने दे।

main jo hoon mujhe rahane de hava ke jaise bahane de, 

tanha sa musaafir hoon mujhe tanha hi tu rahane de.



एक पुराना मौसम लौटा याद भरी पुरवाई भी,

ऐसा तो कम ही होता है वो भी हो तन्हाई भी।

ek puraana mausam lauta yaad bhari puravai bhi, 

aisa to kam hi hota hai vo bhi ho tanhai bhi.



मोहब्बत मुकद्दर है कोई ख़्वाब नही

ये वो अदा है जिसमें हर कोई कामयाब नही,

जिन्हें मिलती मंज़िल उंगलियों पे वो खुश है

मगर जो पागल हुए उनका कोई हिसाब नही।

mohabbat mukaddar hai koi khwab nahi ye vo ada hai 

jisamen har koi kaamayaab nahi, 

jinhen milati manzil ungaliyon pe vo khush hai 

magar jo paagal huye unaka koi hisaab nahi.



अब तो उन की याद भी आती नहीं,

कितनी तन्हा हो गईं तन्हाइयाँ।

ab to un ki yaad bhi aati nahin, 

kitani tanha ho gaeen tanhaiyaan.



ये भी शायद ज़िंदगी की इक अदा है दोस्तों,

जिसको कोई मिल गया वो और तन्हा हो गया।

ye bhi shaayad zindagi ki ik ada hai doston, 

jisako koi mil gaya vo aur tanha ho gaya.



जब महफ़िल में भी तन्हाई पास हो

रोशनी में भी अँधेरे का एहसास हो,

तब किसी खास की याद में मुस्कुरा दो

शायद वो भी आपके इंतजार में उदास हो।

jab mahafil mein bhi tanhai paas ho 

roshni mein bhi andhere ka ehasaas ho,

 tab kisi khaas ki yaad mein muskura do 

shaayad vo bhi aapake intajaar mein udaas ho.



मेरी पलकों का अब नींद से कोई ताल्लुक नही रहा,

मेरा कौन है ये सोचने में रात गुज़र जाती है।

meri palakon ka ab neend se koi taalluk nahi raha, 

mera kaun hai ye sochane mein raat guzar jaati hai.



जगमगाते शहर की रानाइयों में क्या न था

ढूँढ़ने निकला था जिसको बस वही चेहरा न था,

हम वही, तुम भी वही, मौसम वही, मंज़र वही

फ़ासले बढ़ जायेंगे इतने मैंने कभी सोचा न था।

jagamagaate shahar ki raanaiyon mein kya na tha 

dhundhane nikala tha jisako bas vahi chehara na tha, 

ham vahi, tum bhi vahi, mausam vahi, manzar vahi 

faasale badh jaayenge itane mainne kabhi socha na tha.


Alone shayari in hindi, tanhai shayari / Alone shayari

tanhai shayari
Zindagi alone shayari


खुद से ही बातें हो जाती हैं अब तो,

लोग वैसे भी कहा सुनते हैं आज कल।

khud se hi baaten ho jaati hain ab to,

 log vaise bhi kaha sunate hain aaj kal.



मैं हूँ दिल है तन्हाई है,

तुम भी जो होते तो अच्छा होता।

main hoon dil hai tanhai hai, 

tum bhi jo hote to achchha hota. 



ज्यादा कुछ ख्वाहिशे नही है ए जिंदगी तुझसे,

बस तू जरा सुकून से ही गुजर इतना काफी है।

jyaada kuchh khvaahishe nahi hai aye jindagi tujhase, 

bas tu jara sukoon se hi gujar itana kaafi hai.



किसी का हाथ कैसे थाम लूँ...

वो तनहा मिल गयी तो क्या कहूंगा।

kisi ka haath kaise thaam loon... 

vo tanaha mil gayi to kya kahoonga.



तन्हाई में चलते चलते अब पैर लडखडा रहे हैं,

कभी साथ चलता था कोई. अब अकेले चलें जा रहे हैं।

tanhai mein chalate chalate ab pair ladakhada rahe hain, 

kabhi saath chalata tha koi. ab akele chalen ja rahe hain.



कैफ में डूबा हुआ हूँ आलम-ए-तन्हाई है

फिर तेरी याद दबे पाँव चली आई है,

शब-ए-तारीक पे छाई हुयी रानाई है

यह तेरी ज़ुल्फ़ के साए हैं के परछाई है,

तेरे दीवाने को इतना भी अब होश नहीं

ये तेरा आगोश है या गौसा-ए-तन्हाई है।

kaif mein dooba hua hoon aalam-e-tanhai hai 

phir teri yaad dabe paanv chali aai hai, 

shab-e-taareek pe chhai huyi raanai hai 

yah teri zulf ke saye hain ke parachhai hai, 

tere deewane ko itana bhi ab hosh nahin 

ye tera aagosh hai ya gausa-e-tanhai hai. 



अब इस घर की आबादी मेहमानों पर है,

कोई आ जाए तो वक़्त गुज़र जाता है।

ab is ghar ki aabaadi mehmaanon par hai, 

koi aa jaye to vaqt guzar jaata hai.



उसके दिल में थोड़ी सी जगह माँगी थी

मुसाफिरों की तरह...

उसने तन्हाईयों का एक शहर,

मेरे नाम कर दिया।

usake dil mein thodi si jagah maangi thi 

musaafiron ki tarah... 

usane tanhaiyon ka ek shahar, 

mere naam kar diya.



आज कुछ अजनबी सा अपना वजूद लगता है,

साथ हैं सब मगर दिल क्यों अकेला सा लगता है।

aaj kuchh ajanabi sa apana vajood lagata hai, 

saath hain sab magar dil kyon akela sa lagata hai.


तन्हाई सैड अलोन शायरी इन हिंदी , Zindagi alone shayari

Alone shayari in hindi
tanhai shayari / Alone shayari


जिंदगी ख्वाहिशों का एक मेला है

इस भीड़ में हर कोई ही अकेला है।

jindagi khvaahishon ka ek mela hai 

is bheed mein har koi hi akela hai.



मेरी तन्हाइयां करती हैं ​जिन्हें याद सदा,

उन को भी मेरी ज़रुरत हो ज़रूरी तो नहीं।

meri tanhaiyaan karati hain ​jinhen yaad sada, 

un ko bhi meri zarurat ho zaruri to nahin.



क्या लाजवाब था तेरा छोड़ के जाना

भरी भरी आँखों से मुस्कुराये थे हम,

अब तो सिर्फ मैं हूँ और तेरी यादें हैं

गुजर रहे हैं यूँ ही तन्हाई के मौसम।

kya laajavaab tha tera chhod ke jaana 

bhari bhari aankhon se muskuraaye the ham, 

ab to sirf main hoon aur teri yaaden hain 

gujar rahe hain yoon hi tanhai ke mausam.



इस तरह हम सुकून को महफूज कर लेते हैं,

जब भी तनहा होते हैं तुम्हे महसूस कर लेते हैं।

is tarah ham sukoon ko mahafuj kar lete hain, 

jab bhi tanaha hote hain tumhe mahasoos kar lete hain.



यूँ तो हर रंग का मौसम मुझसे वाकिफ है मगर,

रात की तन्हाई मुझे कुछ अलग ही जानती है।

yoon to har rang ka mausam mujhase vaakif hai magar, 

raat ki tanhai mujhe kuchh alag hi jaanatei hai.



कभी किसी को तो मेरी याद आएगी, 

एक दिन मेरी तन्हाई मिट जायेगी।

kabhi kisi ko to meri yaad aaegi, 

ek din meri tanhai mit jaayegi.



ज़िन्दगी के ज़हर को यूँ पी रहे हैं

तेरे प्यार के बिना यूँ ज़िन्दगी जी रहे हैं,

अकेलेपन से तो अब डर नहीं लगता हमें

तेरे जाने के बाद यूँ ही तन्हा जी रहे हैं।

zindagi ke zahar ko yoon pi rahe hain 

tere pyaar ke bina yoon zindagi jee rahe hain, 

akelepan se to ab dar nahin lagata hamen 

tere jaane ke baad yoon hi tanha jee rahe hain.



एक महफ़िल में कई महफ़िलें होती हैं शरीक,

जिस को भी पास से देखोगे अकेला होगा।

ek mahafil mein kai mahafilen hoti hain shareek, 

jis ko bhi paas se dekhoge akela hoga.



किसी के कहने से मैं इतना बदल गया

इतना भी शरीफ नही था जितना अब बन गया

kisi ke kahane se main itana badal gaya 

itana bhi shareef nahi tha jitana ab ban gaya


Sad alone shayari in hindi, Feeling alone shayari

alone dard sad shayari
painful alone sad shayari in hindi


दोहरी शक्सियत रखनें से इन्कार है हमें,

इसलिये अकेले रहना स्वीकार है हमें।

dohari shaksiyat rakhanen se inkaar hai hamen, 

isaliye akele rahana sveekaar hai hamen.



तुम जब आओगे तो खोया हुआ पाओगे मुझे

मेरी तन्हाई में ख़्वाबों के सिवा कुछ भी नहीं,

मेरे कमरे को सजाने कि तमन्ना है तुम्हें

मेरे कमरे में किताबों के सिवा कुछ भी नहीं।

tum jab aaoge to khoya hua paoge mujhe

 meri tanhai mein khwabon ke siva kuchh bhi nahin, 

mere kamare ko sajaane ki tamanna hai tumhen 

mere kamare mein kitaabon ke siva kuchh bhi nahin.



मुझको मेरी तन्हाई से अब शिकायत नहीं है,

मैं पत्थर हूँ मुझे खुद से भी मोहब्बत नहीं है।

mujhako meri tanhai se ab shikaayat nahin hai, 

main patthar hoon mujhe khud se bhi mohabbat nahin hai.



जगमगाते शहर की रानाइयों में क्या न था,

ढूँढ़ने निकला था जिसको बस वही चेहरा न था,

हम वही, तुम भी वही, मौसम वही, मंज़र वही,

फ़ासले बढ़ जायेंगे इतने मैंने कभी सोचा न था।

jagamagaate shahar ki raanaiyon mein kya na tha, 

dhoondhane nikala tha jisako bas vahi chehara na tha, 

ham vahi, tum bhi vahi, mausam vahi, manzar vahi, 

faasale badh jaayenge itane mainne kabhi socha na tha.



मुझसे नाराज है तो छोड़ दे तन्हा मुझको,

ए ज़िन्दगी मेरा रोज़ रोज़ तमशा न बनाया कर।

mujhase naaraaj hai to chhod de tanha mujhako, 

aye zindagi mera roz roz tamasha na banaaya kar.



कितनी अजीब है इस शहर की तन्हाई भी,

हजारों लोग हैं मगर कोई उस जैसा नहीं है।

kitani ajeeb hai is shahar ki tanhai bhi, 

hajaaron log hain magar koi us jaisa nahin hai.



कैसे गुजरती है मेरी

हर एक शाम तुम्हारे बगैर,

अगर तुम देख लेते तो

कभी तन्हा न छोड़ते मुझे।

kaise gujarati hai meri 

har ek shaam tumhaare bagair, 

agar tumdekh lete to 

kabhi tanha na chhodate mujhe.



ख़मोशी के हैं आँगन और सन्नाटे की दीवारें,

ये कैसे लोग हैं जिन को घरों से डर नहीं लगता।

khamoshi ke hain aangan aur sannaate ki deevaaren, 

ye kaise log hain jin ko gharon se dar nahin lagata.



ऐ शम्मा तुझपे ये रात भारी है जिस तरह,

हमने तमाम उम्र गुजारी है उस तरह।

aye shamma tujhape ye raat bhaari hai jis tarah, 

hamane tamaam umr gujaari hai us tarah.



ज़िन्दगी यूँ हुई बसर तन्हा,

काफिला साथ और सफ़र तनहा।

zindagi yoon hui basar tanha, 

kaafila saath aur safar tanaha.



दिल गया तो कोई आँखें भी ले जाता,

फ़क़त एक ही तस्वीर कहाँ तक देखूँ।

dil gaya to koi aankhen bhi le jaata, 

faqat ek hi tasveer kahaan tak dekhoon.



ना जाने क्यूँ खुद को अकेला सा पाया है,

हर एक रिश्ते में खुद को गँवाया है।

शायद कोई तो कमी है मेरे वजूद में,

तभी हर किसी ने हमें यूँ ही ठुकराया है।

na jaane kyoon khud ko akela sa paaya hai, 

har ek rishte mein khud ko ganvaaya hai. 

shaayad koi to kami hai mere vajood mein, 

tabhi har kisi ne hamen yoon hi thukaraaya hai.



कितना भी दुनिया के लिए हँस के जी लें हम,

रुला देती है फिर भी किसी की कमी कभी-कभी।

kitana bhi duniya ke lie hans ke jee len ham, 

rula deti hai phir bhi kisi ki kami kabhi-kabhi.


alone dard sad shayari, facebook akelapan shayari

facebook akelapan shayari
 Alone sad shayari in hindi


वो भी बहुत अकेला है शायद मेरी तरह,

उस को भी कोई चाहने वाला नहीं मिला।

vo bhi bahut akela hai shaayad meri tarah, 

us ko bhi koi chaahane vaala nahin mila.



मेरा चेहरा मेरी यादें मेरी बातें रुलायेंगी

जुदाई के दौर में गुज़री मुलाकातें रुलायेंगी,

दिनों को तो चलो बिता भी लोगे फसानों में

जहाँ तन्हा मिलोगे तुम तुम्हें रातें रुलायेंगी।

mera chehara meri yaaden meri baaten rulaayengi 

judai ke daur mein guzari mulaakaaten rulaayengi, 

dinon ko to chalo bita bhi loge fasaanon mein 

jahaan tanha miloge tum tumhen raaten rulaayengi.



रात भर जागता हूँ एक ऐसे बेदर्दी शख़्स की यादों में, 

जिसे दिन के उजालों में भी मेरी याद नहीं आती। 

raat bhar jaagata hoon ek aise bedardi shakhs ki yaadon mein, 

jise din ke ujaalon mein bhi meri yaad nahin aati.



ना ढूंढ़ मेरा किरदार दुनियाँ की भीड़ में,

वफादार तो हमेशा तन्हा ही मिलते है।

na dhoondh mera kiradaar duniyaan ki bheed mein, 

vafadaar to hamesha tanha hi milate hai.



ए ज़िन्दगी एक बार तू नज़दीक आ तन्हा हूँ मैं

या दूर से फिर दे कोई सदा तन्हा हूँ मैं...

दुनिया की महफ़िल मैं कहीं मैं हूँ भी या नहीं

एक उम्र से इस सोच में डूबा हुआ हूँ मैं।

aye zindagi ek baar tu nazadeek aa tanha hoon 

main ya door se phir de koi sada tanha hoon main... 

duniya ki mahafil main kaheen main hoon bhi ya nahin 

ek umr se is soch mein dooba hua hoon main.



बिछड़ के भी वो रोज मिलता है मुझे ख्वाबों में,

अगर ये नींद न होती तो कब के मर गए होते।

bichhad ke bhi vo roj milata hai mujhe khvaabon mein, 

agar ye neend na hoti to kab ke mar gae hote.



अकेला भी इस तरह पड़ गया हूं,

कि मेरा हौसला भी साथ न दे रहा है।

akela bhi is tarah pad gaya hoon, 

ki mera hausala bhi saath na de raha hai.



कितनी फ़िक्र है कुदरत को मेरी तन्हाई की,

जागते रहते हैं रात भर सितारे मेरे लिए।

kitani fikr hai kudarat ko meri tanhai ki, 

jaagate rahate hain raat bhar sitaare mere lie.



मेरी है वो मिसाल कि जैसे कोई दरख़्त,

चुप-चाप आँधियों में भी तन्हा खड़ा हुआ।

meri hai vo misaal ki jaise koi darakht, 

chup-chaap aandhiyon mein bhi tanha khada hua.



मेरी यादें मेरा चेहरा मेरी बातें रुलायेंगी

हिज़्र के दौर में गुज़री मुलाकातें रुलायेंगी,

दिनों को तो चलो तुम काट भी लोगे फसानों में

जहाँ तन्हा मिलोगे तुम तुम्हें रातें रुलायेंगी।

meri yaaden mera chehara meri baaten rulaayengi 

hizr ke daur mein guzari mulaakaaten rulaayengi, 

dinon ko to chalo tum kaat bhi loge fasaanon mein 

jahaan tanha miloge tum tumhen raaten rulaayengi.



कहने लगी है अब तो मेरी तन्हाई भी मुझसे,

मुझसे कर लो मोहब्बत मैं तो बेवफा भी नहीं।

kahane lagi hai ab to meri tanhai bhi mujhase, 

mujhase kar lo mohabbat main to bewafa bhi nahin.


Also Read:

  • Best heart touching sad quotes in hindi | sad thoughts in hindi
  • alone sad shayari in hindi, painful alone sad shayari in hindi

    Sad alone shayari in hindi
    Feeling alone shayari


    यूँ भी हुआ रात को जब लोग सो गए,

    तन्हाई और मैं तेरी बातों में खो गए।

    yoon bhi hua raat ko jab log so gaye, 

    tanhai aur main teri baaton mein kho gaye.



    हुआ है तुझसे बिछड़ने के बाद ये मालूम,

    कि तू नहीं था तेरे साथ एक दुनिया थी।

    hua hai tujhase bichhadane ke baad ye maaloom, 

    ki tu nahin tha tere saath ek duniya thi.



    कितनी अजीब है इस शहर की तन्हाई भी,

    हजारों लोग हैं मगर कोई उस जैसा नहीं है।

    kitani ajeeb hai is shahar ki tanhai bhi, 

    hajaaron log hain magar koi us jaisa nahin hai.



    ख़्वाब की तरह बिखर जाने को जी चाहता है,

    ऐसी तन्हाई कि मर जाने को जी चाहता है।

    khvaab ki tarah bikhar jaane ko jee chaahata hai, 

    aisee tanhai ki mar jaane ko jee chaahata hai.



    वक़्त तो दो ही मुश्किल गुजरे हैं सारी उम्र में,

    इक तेरे आने के पहले इक तेरे जाने के बाद।

    vaqt to do hi mushkil gujare hain saari umr mein, 

    ik tere aane ke pahale ik tere jaane ke baad.



    दिलख़ुशी का भी नाम है हमारी, सादगी भी कमाल है

    हम शरारती भी बेइंतेहा हैं और तन्हा भी बेमिसाल हैं।

    dilakhushi ka bhi naam hai hamaari, 

    saadagi bhi kamaal hai ham sharaarati bhi beinteha hain 

    aur tanha bhi bemisaal hain.



    हर वक़्त का हँसना तुझे बर्बाद न कर दे,

    तन्हाई के लम्हे में कभी रो भी लिया कर।

    har vaqt ka hansana tujhe barbaad na kar de, 

    tanhai ke lamhe mein kabhi ro bhi liya kar.



    अकेलेपन से सीखी है, मगर बात सच्ची है,

    दिखावे की नजदीकयों से, हकीकत की दूरियाँ अच्छी है।

    akelepan se seekhi hai, magar baat sachchi hai, 

    dikhaave ki najadeekayon se, haqeekat ki dooriyaan achchhi hai.



    कुदरत के इन हसीन नजारों का हम क्या करें,

    तुम साथ नहीं तो इन चाँद सितारों का क्या करें।

    kudarat ke in haseen najaaron ka ham kya karen, 

    tum saath nahin to in chaand sitaaron ka kya karen.



    कभी पहलू में आओ तो बताएँगे तुम्हें

    हाल-ए-दिल अपना तमाम सुनाएँगे तुम्हें,

    काटी हैं अकेले कैसे हमने तन्हाई की रातें

    हर उस रात की तड़प दिखाएँगे तुम्हें।

    kabhi pahalu mein aao to bataenge tumhen 

    haal-e-dil apana tamaam sunaenge tumhen, 

    kaati hain akele kaise hamane tanhai ki raaten 

    har us raat ki tadap dikhaenge tumhen.



    वक्त के बदल जाने से इतनी तकलीफ नही होती है,

    जितनी किसी अपने के बदल जाने से तकलीफ होती है।

    vakt ke badal jaane se itani takaleef nahi hoti hai, 

    jitani kisi apane ke badal jaane se takaleef hoti hai.


    Zindagi alone shayari, alone sad shayari

    Leave me alone shayari
    Feeling Lonely Shayari in Hindi


    तुम्हारे बगैर ये वक़्त ये दिन और ये रात,

    गुजर तो जाते हैं मगर गुजारे नहीं जाते।

    tumhaare bagair ye vaqt ye din aur ye raat, 

    gujar to jaate hain magar gujaare nahin jaate.



    अकेला हूँ पर मुस्कुराता बहुत हूँ,

    ख़ुद का साथ बड़ी शिद्दत से दे रहा हूँ।

    akela hoon par muskuraata bahut hoon, 

    khud ka saath badi shiddat se de raha hoon.



    तेरे वजूद की खुशबु बसी है साँसों में,

    ये और बात है नजरों से दूर रहते हो।

    tere vajood ki khushabu basi hai saanson mein, 

    ye aur baat hai najaron se door rahate ho.



    अकेले रहना इतना भी मुश्किल नहीं है। 

    कभी भीड़ से निकल कर... 

    उस भीड़ को जरा देखिये तो सही।

    akele rahana itana bhi mushkil nahin hai. 

    kabhi bheed se nikal kar... 

    us bheed ko jara dekhiye to sahi.



    वो नहीं है न सही तर्क-ए-तमन्ना न करो,

    दिल अकेला है इसे और अकेला न करो।

    vo nahin hai na sahi tark-e-tamanna na karo, 

    dil akela hai ise aur akela na karo.



    मत पूछो कैसे गुजरता है हर पल तुम्हारे बिना,

    कभी मिलने की हसरत कभी देखने की तमन्ना।

    mat poochho kaise gujarata hai har pal tumhaare bina, 

    kabhi milane ki hasarat kabhi dekhane ki tamanna.



    कुछ कर गुजरने की चाह में कहाँ-कहाँ से गुजरे,

    अकेले ही नजर आये हम जहाँ-जहाँ से गुजरे।

    kuchh kar gujarane ki chaah mein kahaan-kahaan se gujare, 

    akele hi najar aaye ham jahaan-jahaan se gujare.



    सुबकती रही रात अकेली तन्हाईओं के आगोश में,

    और वो काफ़िर दिन से मोहब्बत कर के उसका हो गया।

    subakati rahi raat akeli tanhaiyon ke aagosh mein, 

    aur vo kaafir din se mohabbat kar ke usaka ho gaya.



    अकेले ही गुजर जाती है तन्हा ज़िंदगी,

    लोग तसल्लियाँ तो देते हैं साथ नहीं देते।

    akele hi gujar jaati hai tanha jaindagi, 

    log tasalliyaan to dete hain saath nahin dete.



    तन्हाई रही साथ ता-जिंदगी मेरे,

    शिकवा नहीं कि कोई साथ न रहा।

    tanhai rahi saath ta-jindagi mere, 

    shikava nahin ki koi saath na raha.


    Also Read:

    Alone shayari in hindi, tanhai shayari

    alone sad shayari in hindi
     painful alone sad shayari in hindi


    वहां से बिगड़ी है ज़िंदगी मेरी,

    जहाँ से साथ तुमने छोड़ा था।

    vahaan se bigadi hai zindagi meri, 

    jahaan se saath tumane chhoda tha.



    कभी जब गौर से देखोगे तो इतना जान जाओगे,

    कि तुम्हारे बिन हर लम्हा हमारी जान लेता है।

    kabhi jab gaur se dekhoge to itana jaan jaoge, 

    ki tumhaare bin har lamha hamaari jaan leta hai.



    ज़ख़्म खरीद लाया हूं बाज़ार-ए-इश्क़ से,

    दिल ज़िद कर रहा था मुझे इश्क चाहिए।

    zakhm khareed laaya hoon baazaar-e-ishq se, 

    dil zid kar raha tha mujhe ishq chaahiye.



    बर्बादियों का हसीन एक मेला हूँ मैं,

    सबके रहते हुए भी बहुत अकेला हूँ मैं।

    barbaadiyon ka haseen ek mela hoon main, 

    sabake rahate hue bhi bahut akela hoon main.



    रोते हैं तन्हा देख कर मुझको वो रास्ते,

    जिन पे तेरे बगैर मैं गुजरा कभी न था।

    rote hain tanha dekh kar mujhako vo raaste, 

    jin pe tere bagair main gujara kabhi na tha.



    सहारा लेना ही पड़ता है मुझको दरिया का,

    मैं एक कतरा हूँ तनहा तो बह नहीं सकता।

    sahaara lena hi padata hai mujhako dariya ka, 

    main ek katara hoon tanaha to bah nahin sakata.



    स्टेशन जैसी हो गयी है ज़िन्दगी, 

    जहां लोग तो बहुत है, पर अपना कोई नहीं।

    station jaisi ho gayi hai zindagi, 

    jahaan log to bahut hai, par apana koi nahin.



    अकेला छोड़ ही रही हो तो

    पहले इसकी वजह तो बता दो।

    akela chhod hi rahi ho to 

    pahale isaki vajah to bata do.



    कहने लगी है अब तो मेरी तन्हाई भी मुझसे,

    मुझसे कर लो मोहब्बत मैं तो बेवफा भी नहीं।

    kahane lagi hai ab to meri tanhai bhi mujhase, 

    mujhase kar lo mohabbat main to bewafa bhi nahin.



    शहर में किस से सुख़न रखिए किधर को चलिए,

    इतनी तन्हाई तो घर में भी है घर को चलिए।

    shahar mein kis se sukhan rakhiye kidhar ko chaliye, 

    itani tanhai to ghar mein bhi hai ghar ko chaliye.



    कभी घबरा गया होगा दिल तन्हाई में उनका,

    मेरी तस्वीर को सीने से लगा कर सो गए होंगे।

    kabhi ghabara gaya hoga dil tanhai mein unaka, 

    meri tasveer ko seene se laga kar so gae honge.



    सौ बार चमन महका सौ बार बहार आई,

    दुनिया की वही रौनक दिल की वही तन्हाई।

    sau baar chaman mahaka sau baar bahaar aai, 

    duniya ki vahi raunak dil ki vahi tanhai.



    जानता पहले से था मैं

    लेकिन एहसास अब हो रहा है,

    अकेला तो बहुत समय से हूं मैं

    पर महसूस अब हो रहा है।

    jaanata pahale se tha main 

    lekin ehasaas ab ho raha hai, 

    akela to bahut samay se hoon main 

    par mahasoos ab ho raha hai.


    Alone Shayari, Status, Quotes, In Hindi, फीलिंग अलोन शायरी इन हिंदी

    Alone sad shayari in hindi
     Alone shayari 2 line


    पूछा था हाल उन्होंने बड़ी मुदद्तों के बाद,

    कुछ गिर गया है आँख में कह कर हम रो पड़े।

    poochha tha haal unhonne badi mudadton ke baad, 

    kuchh gir gaya hai aankh mein kah kar ham ro pade.



    एक तेरे ना होने से बदल जाता है सब कुछ

    कल धूप भी दीवार पे पूरी नहीं उतरी।

    ek tere na hone se badal jaata hai sab kuchh 

    kal dhoop bhi deevaar pe poori nahin utari.



    जब से देखा है चाँद को तन्हा,

    तुम से भी कोई शिकायत ना रही।

    jab se dekha hai chaand ko tanha, 

    tum se bhi koi shikaayat na rahi.



    तू उदास मत हुआ कर इन हजारों के बीच,

    आख़िर चांद भी अकेला रहता हैं सितारों के बीच।

    tu udaas mat hua kar in hajaaron ke beech, 

    aakhir chaand bhi akela rahata hain sitaaron ke beech.



    झूठ कहूँ तो बहुत कुछ है मेरे पास,

    सच कहूँ तो कुछ नही सिवा तेरे मेरे पास।

    jhooth kahoon to bahut kuchh hai mere paas, 

    sach kahoon to kuchh nahi siva tere mere paas.



    चुभते हुए ख्वाबों से कह दो अब आया न करे, 

    हम तन्हा तसल्ली से रहते है, बेकार उलझाया न करे।

    chubhate hue khwabon se kah do ab aaya na kare, 

    ham tanha tasalli se rahate hai, bekaar ulajhaaya na kare.



    दौर-ए-तन्हाई में झोंका हवा का जब भी कोई आया,

    दिल देता है दस्तक कि देख कहीं वो लौट तो नहीं आया।

    daur-e-tanhai mein jhonka hava ka jab bhi koi aaya, 

    dil deta hai dastak ki dekh kaheen vo laut to nahin aaya.



    एहतियातन देखता चल अपने साए की तरफ,

    इस तरह शायद तुझे एहसास-ए-तन्हाई न हो।

    ehatiyaatan dekhata chal apane saye ki taraf, 

    is tarah shaayad tujhe ehasaas-e-tanhai na ho.



    उसे पाना उसे खोना उसी के हिज्र में रोना,

    यही गर इश्क है तो हम तन्हा ही अच्छे हैं।

    use paana use khona usi ke hijr mein rona, 

    yahi gar ishq hai to ham tanha hi achchhe hain.



    वो हर बार मुझे छोड़ के चले जाते हैं तन्हा,

    मैं मज़बूत बहुत हूँ लेकिन कोई पत्थर तो नहीं हूँ।

    vo har baar mujhe chhod ke chale jaate hain tanha, 

    main mazaboot bahut hoon lekin koi patthar to nahin hoon.



    काश तू समझ सकती मोहब्बत के उसूलों को,

    किसी की साँसों में समाकर उसे तन्हा नहीं करते।

    kaash tu samajh sakati mohabbat ke usoolon ko, 

    kisi ki saanson mein samaakar use tanha nahin karate.



    तन्हाईयाँ कुछ इस तरह से डसने लगी मुझे,

    मैं आज अपने पैरों की आहट से डर गया।

    tanhaiyaan kuchh is tarah se dasane lagee mujhe, 

    main aaj apane pairon ki aahat se dar gaya.



    No comments:
    Write comment